पश्चिम बंगाल के बाद असम में विधानसभा चुनाव होने हैं और इसको लेकर अभी से सभी राजनीति दल अपनी-अपनी रणनीति बना रहे हैं। 126 विधानसभा सीटों वाले असम राज्य में कांग्रेस 97 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है और बाकी सीटें कांग्रेस अपनी सहयोगी पार्टियों के लिए छोड़ सकती है।

आगामी असम विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने 5 अन्य पार्टियों के साथ महागठबंधन किया है। इनमें ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF), सीपीआई, सीपीआई (एमएल) और आंचलिक गंगा मोर्चा शामिल हैं।

कांग्रेस की ओर से सभी 126 निर्वाचन क्षेत्रों में उम्मीदवारों की चयन प्रक्रिया शुरू करने के बाद गठबंधन में कुछ असहजता दिख रही है। कांग्रेस ने बुधवार तक प्रत्येक आवेदक से डिमांड ड्राफ्ट के रूप में 40 हजार रुपये जाम करने के लिए कहा है। बुधवार तक 625 लोग आवेदन कर चुके हैं।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि AIUDF 20 सीट, जबकि लेफ्ट पार्टी 5 से 6 सीट और आंचलिक गंगा मोर्चा 3 से 4 सीट पर चुनाव लड़ सकती है। उन्होंने कहा कि हमने सभी सहयोगियों के लिए एक समन्वय समिति का गठन किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी सीटों के लिए आवेदनों की समीक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि 126 सीटों के लिए आवेदन मांगे गए थे। लेकिन उन सीटों पर रुपये वापस कर दिए जाएंगे, जहां से उम्मीदवार नहीं उतारे जाएंगे।