विधानसभा चुनाव 2022 (assembly elections 2022) के बीच कांग्रेस बहुत ज्यादा एक्टीव हो गई है। पूर्वोत्तर राज्य असम (Assam) में भाजपा नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने धरना प्रदर्शन किया है। हाल ही में कांग्रेस की असम ईकाय ने नगर निकाय चुनाव का कार्यक्रम जैसे ही आगे बढ़ा तो करीमगंज जिला कांग्रेस विपक्षी दल ने नगर पालिका कार्यालय के सामने सरकार की विफलताओं के खिलाफ धरना प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।
कांग्रेस (Congress) ने पूर्व भाजपा बोर्ड के दौरान बड़े घोटाले का आरोप लगाते हुए, गहन जांच की मांग की है। कांग्रेस ने कई आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Abhiyan) के तहत 55 लाख रुपये का घोटाला हुआ है। इसी के साथ शहर में सड़क किनारे विद्युतीकरण के लिए 28 लाख रुपये की योजना ज्योति परियोजना (Jyoti Project) में कथित रूप से भारी अनियमितताएं पाई गई है। जिससे साबित होता है कि सरकार शहरी विकास में विफल रही है।
जानकारी दे दें कि 27 वार्ड करीमगंज नगर पालिका बोर्ड (Karimganj Municipality Board) में भाजपा के 15 आयुक्त थे। पिछले हफ्ते सिलचर के सांसद डॉ राजदीप रॉय (MP Dr Rajdeep Roy) ने करीमगंज का दौरा किया था, जहां उन्होंने आश्वासन दिया था कि अगर बीजेपी के नेतृत्व वाले बोर्ड में कोई वित्तीय अनियमितता हुई है, तो निश्चित रूप से उचित जांच की जाएगी।