मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के नेतृत्व में राज्य सरकार की अगली कैबिनेट बैठक 30 सितंबर को उत्तरी असम के धेमाजी जिले में होगी। बताया गया है कि बैठक उपायुक्त कार्यालय के कांफ्रेंस हॉल में होगी। बैठक के सुचारू संचालन के लिए जिला प्रशासन ने सभी कदम और व्यवस्थाएं शुरू कर दी हैं। 14 अक्टूबर 1989 को लखीमपुर जिले से अलग होने के बाद धेमाजी एक पूर्ण जिला बन गया है।

जिले का मुख्यालय धेमाजी में स्थित है जबकि वाणिज्यिक मुख्यालय सिलापाथर में स्थित है। इस जिले में दो विधान सभा क्षेत्र (LAC) हैं- नंबर 113 धेमाजी LAC और नंबर 114 जोनाई LAC। वे नंबर 14 लखीमपुर संसदीय क्षेत्र का हिस्सा हैं। दोनों LAC को अनुसूचित जनजाति (ST) के लिए नामित किया गया है।

वर्तमान में धेमाजी LAC का प्रतिनिधित्व शिक्षा मंत्री डॉ. रनोज कुमार पेगु कर रहे हैं जबकि जोनाई एलएसी का प्रतिनिधित्व भाजपा विधायक भुबन पेगु कर रहे हैं। धेमाजी के दु:ख दोगुने हैं। एक तो बाढ़ के पानी ने उपजाऊ खेत को अपनी चपेट में ले लिया है जिससे ग्रामीण बेघर और गरीब हो गए हैं।

दूसरे, भूमि के बड़े हिस्से का धीरे-धीरे क्षरण हो रहा है। जिले की बारहमासी बाढ़ एवं कटाव की समस्या के समाधान को लेकर लोगों एवं संगठनों ने कैबिनेट बैठक के इर्द-गिर्द केन्द्रित आशावाद दिखाया है।