असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) ने राज्य में भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रखी है। हिमंता ने एक ऐसा बयान दिया है जिसे सुनकर अधिकारियों के होश उड़ गए हैं। गुवाहाटी में आयोजित एक कार्यक्रम में सीएम सरमा ने कहा कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी। अगर कोई अधिकारी भ्रष्टाचार करते हुए पकड़ा गया तो उस पर बाघ की तरह हमला करूंगा। 

बता दें कि सरमा रविवार को 15वें वित्त आयोग अनुदान के तहत गुवाहाटी के श्रीमंत शंकरदेव कालकाक्षेत्र में 'Utilization of Tied Fund' पर एक सम्मेलन में पीआरआई सदस्यों, पंचायत अधिकारियों और ग्रामीण विकास और जन स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने इसी दौरान ये बातें कही।

हिमंता ने कहा कि असम को बदलना होगा। प्रधानमंत्री जन आवास योजना में अगर कोई 2,000 रुपए लेता है और मुझे इसके बारे में पता चलता है, तो मैं उस व्यक्ति पर बाघ की तरह हमला करूंगा। इसके लिए मैं एक हेल्पलाइन नंबर खोल रहा हूं और लोगों को बताऊंगा कि अगर कोई पैसे मांगता है तो राज्य हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके अपनी शिकायत करें और  मुझे भी इसकी सूचना दें।

उन्होंने कहा कि सरकार जल जीवन मिशन (JJM) के तहत 2024 तक असम के सभी ग्रामीण परिवारों को सुरक्षित नल का पानी उपलब्ध कराने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। सरमा ने यह भी कहा, ‘JJM के तहत ‘हर घर नल जल’ पहुंचा के पीएम मोदी ने ग्रामीण भारत में बड़ा परिवर्तन लाया है। हिमंता ने लोगों के जीवन में सुधार के लिए जल जीवन मिशन के सफल रखरखाव और निर्वाह के लिए सभी हितधारकों के सहयोग की भी मांग की।