मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) के ड्रीम प्रोजेक्ट (dream project) 'प्रोजेक्ट गोरुखुटी (Project Gorukhuti)' के माध्यम से दरांग जिले के गोरुखुटी क्षेत्र के शिक्षित बेरोजगार युवाओं द्वारा कृषि खेती करने में एक और सकारात्मक प्रतिक्रिया और समर्थन में ऐलान किया गया है।
मुख्यमंत्री हिमंता ने कहा कि राज्य के सिंचाई विभाग ने गोरुखुटी परियोजना (Project Gorukhuti) को सौंपी गई जमीन पर 100 सोलर शालो ट्यूबवेल (STW) लगाने की मंजूरी दी है। सिंचाई विभाग इन STW को नाबार्ड द्वारा प्रायोजित ग्रामीण बुनियादी ढांचा विकास कोष (RIDF) के तहत स्थापित करेगा। इस अनूठी योजना पर लगभग 7 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

परियोजना की अध्यक्ष गोरुखुटी-सह-विधायक पद्मा हजारिका, सिपाझार के विधायक डॉ. परमानंद राजबोंगशी के साथ और बड़ी संख्या में स्वदेशी किसानों और परियोजना गोरुखुटी के स्वयंसेवकों की उपस्थिति में, ढालपुर क्षेत्र के मोलुवा सर में योजना की नींव रखी।
समारोह में मंगलदाई सिंचाई मंडल (Mangaldai Irrigation) के कार्यकारी अभियंता नृपेंद्र मोहन दास, सहायक अभियंता केशव कुमार सरमा, सिपाझार राजस्व मंडल के अंचल अधिकारी एर कमलजीत सरमा, जिला कृषि अधिकारी ज्योतिष नाथ भी मौजूद थे।