असम के मुख्यमंत्री, सर्बानंद सोनोवाल ने दिवाली के त्योहार की पूरे असमिया को शुभकामनाएं दी। साथ ही सोनोवाल ने स्थानीय कारीगरों द्वारा खरीदे गए सामानों को खरीदने के लिए स्थानीय मिट्टी के बर्तनों उद्योग को अपना समर्थन देने के लिए जनता से अपील की। उन्होंने गुवाहाटी के कामाख्या गेट क्षेत्र में स्थानीय विक्रेताओं के साथ बातचीत की और दिवाली की खरीदारी भी की।


सीएम ने सड़क पर बेच रहे मिट्टी के दीये वाले से बात कर उससे अपनें घर के लिए दीए भी खरीदें। मुख्यमंत्री ने दीए खरीदने के बाद कहा इसकी जबरदस्त क्षमता वाले स्थानीय बर्तन उद्योग को बढ़ावा देने की जरूरत है। क्योंकि इससे स्थानीय कारीगरों द्वारा बनाई गई मिट्टी के बर्तनों को खरीदकर लोग राज्य की एक मजबूत अर्थव्यवस्था बनाने में योगदान दे सकते हैं।


इकोफ्रेंडली दिवाली को लेकर भी सोनोवाल ने बताया की मिट्टी की दीए के साथ असमिया के कारीगरों ने बांस के दीए भी बनाएं हैं जो कि बेहद ही खुबसूरत हैं। इससे पर्यावरण को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा। इसी के साथ सोनोवाल ने कहा कि देश के लोगों को बेहतर गुणवत्ता के स्वदेशी उत्पादों के उत्पादन पर पर्याप्त ध्यान केंद्रित करके वैश्विक बाजार पर कब्जा करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।