असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व शर्मा ने बुधवार को कुरान का हवाला देते हुए कहा कि यह शिक्षा पर फोकस करता है न कि हिजाब पर। यदि कोई कुरान शरीफ को सही तरीके से पढ़ने की कोशिश करेगा तब उसे यह बात समझ में आएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिजाब को लेकर किसी तरह का विवाद नहीं होना चाहिए। अब यह सवाल बन गया है कि शिक्षा जरूरी है या हिजाब... मुस्लिमों की सबसे बड़ी जिम्मेदारी शिक्षा है।

मुख्यमंत्री ने कहा, 'हिजाब को लेकर कोई विवाद नहीं होना चाहिए। आज शिक्षा पीछे चली गई है और हिजाब आगे चला गया है। लोगों ने माहौल बना दिया है कि शिक्षा से अधिक आवश्यक हिजाब है।'

हिजाब विवाद में हाई कोर्ट का अंतरिम आदेश लागू करेंगे : बोम्मई

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार हिजाब विवाद में हाई कोर्ट के अंतरिम आदेश को लागू करेगी। मुख्यमंत्री शून्य काल के दौरान ड्रेस कोड पर उच्च शिक्षा मंत्री सीएन आश्वथ नारायण के बयान पर नेता प्रतिपक्ष सिद्दरमैया द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे। नारायण ने एक दिन पहले कहा था कि ड्रेस कोड सिर्फ इंटर (प्री-यूनिवर्सिटी) कालेजों में ही लागू है डिग्री कालेजों में नहीं। बोम्मई ने कहा, 'उच्च शिक्षा मंत्री ने सही कहा है, ड्रेस कोड वहीं लागू है जहां इसके नियम हैं और उच्च शैक्षणिक संस्थानों या डिग्री कालेजों में नहीं है।' उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट के अंतरिम आदेश में भी यह स्पष्ट किया गया है कि जहां ड्रेस कोड है वहीं इसका पालन किया जाए, जहां नहीं वहां नहीं।