असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) ने ब्रह्मपुत्र पर 8.25 किलोमीटर लंबे माजुली-जोरहाट पुल (Majuli-Jorhat bridge) के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया है। मुख्यमंत्री सरमा ने लखीमपुर जिले को माजुली से जोड़ने वाले बोंगलमोरा के निकट धुनगुरी में एक और पुल निर्माण की भी घोषणा की है। बता दें कि केंद्र सरकार पहले ही परियोजना के लिए 925.47 करोड़ रुपये मंजूर कर चुकी है।


मुख्यमंत्री सरमा (CM Himanta Biswa) ने अपने ट्विटर हैंडल पर माजुली में निर्माण कार्य के शुभारंभ की तस्वीरें साझा करते हुए ट्वीट किया कि "माजुली में दक्षिणपत में एनएच 715 के पर ब्रह्मपुत्र नदी पर तत्काल पहुंच सहित 8.25 किलोमीटर माजुली-जोरहाट पुल का निर्माण कार्य शुरू किया। हम माननीय प्रधान मंत्री श्री @narendramodi और माननीय केंद्रीय मंत्री श्री @nitin_gadkari के आभारी हैं। इस 925.47 करोड़ रुपये की परियोजना की मंजूरी के लिए, ”।



एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री सरमा (CM Himanta Biswa) ने कहा कि परियोजना की दिन-प्रतिदिन की प्रगति की निगरानी के लिए एक कैबिनेट समिति का गठन किया गया है। असम सरकार का लक्ष्य नवंबर 2025 तक पुल का उद्घाटन करना है।


मुख्यमंत्री सरमा (CM Himanta Biswa) ने कहा कि असम सरकार अपने स्वयं के संसाधनों से 750 करोड़ रुपये की राशि से बोंगलमोरा के पास धुनगुरी में माजुली-लखीमपुर (Majuli-Lakhimpur) को जोड़ने वाले एक नए पुल का निर्माण भी करेगी।


असम के सीएम ने ट्वीट किया कि “परियोजना की दिन-प्रतिदिन की प्रगति की निगरानी के लिए एक कैबिनेट समिति का गठन किया गया है। हमारा लक्ष्य नवंबर 2025 तक इस पुल का उद्घाटन करना है, ”। उन्होंने कहा, "गोवा अपने स्वयं के संसाधनों से 750 करोड़ रुपये की राशि से धुनगुरी में माजुली-लखीमपुर को जोड़ने वाले एक नए पुल का निर्माण भी करेगा।"