छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर इस वर्ष सितंबर में घटकर दो फीसद रह गई है। जो राष्ट्रीय दर 6.8 फीसद से काफी कम है। देश के शहरी क्षेत्रों में यह दर 7.9 फीसद और ग्रामीण क्षेत्रों में 6.3 फीसद रही। सेंटर फॉर मानिट¨रग इंडियन इकोनामी (सीएमआइई) की ओर से देश में बेरोजगारी की ताजा स्थिति पर 16 अक्टूबर को जारी रिपोर्ट के अनुसार, असम की बेरोजगारी दर देश में सबसे कम 1.2 फीसद है।

जबकि उत्तराखंड में सर्वाधिक 22.3 फीसद और हरियाणा में 19.7 फीसद बेरोजगारी दर है। सर्वाधिक आबादी वाले उत्तर प्रदेश में यह 4.2 फीसद है। राष्ट्रीय स्तर पर भी बेरोजगारी दर में कमी आई है। जनवरी 2020 में बेरोजगारी दर 7.22 फीसद थी जो सितंबर में 6.67 फीसद रही। अप्रैल में यह दर सर्वाधिक 23.52 फीसद दर्ज की गई थी।

सीएमआइई की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान में बेरोजगारी की दर 15.3 फीसद, दिल्ली में 12.2 फीसद, बिहार में 11.9 फीसद, पंजाब में 9.6 फीसद, बंगाल में 9.3 फीसद, महाराष्ट्र में 4.5 फीसद, झारखंड में 8.2 फीसद और ओडिशा में 2.1 फीसद है।

उपलब्ध आंकड़े बताते हैं कि राष्ट्रीय स्तर पर भी बेरोजगारी में कमी आई है। अप्रैल और मई 2020 में सर्वाधिक बेरोजगारी दर रही। कोरोना महामारी फैलने के पहले तीन महीनों की स्थिति पर गौर करें तो जनवरी में 7.22, फरवरी में 7.76, मार्च में 8.75 फीसद बेरोजगारी दर रही। अप्रैल में बेरोजगारी दर बढ़कर 23.52 फीसद हो गई। मई में सुधार शुरू हो गया और बेरोजगारी दर मामूली कमी के साथ 21.73 फीसद रही। जून में बेरोजगारी दर घटकर 10.18 फीसद रह गई जो जुलाई में 7.40 फीसद और अगस्त में 8.35 फीसद रहने के बाद सितंबर में 6.67 फीसद दर्ज की गई है।