दिल्ली के पांच सितारा होटल द प्लाजा के खिलाफ असम के सीएम हेमंत बिस्वा शर्मा के फर्जी हस्ताक्षर के मामला में केस दर्ज किया गया है। होटल मैनेजमेंट ने पैसे लेकर सीएम के फर्जी हस्ताक्षर करने वाले दो आरोपियों को होटल में ठहराया था। होटल पर आरोप है कि असम पुलिस के पूछने पर उन्होंने डाटा भी डिलीट कर दिया था।

नई दिल्ली जिला डीसीपी दीपक यादव ने बताया कि होटल मैनेजमेंट के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जल्द ही आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा के फर्जी हस्ताक्षर मामले के दो आरोपी इमरान शा चौधरी और राजीव कालिथा नई दिल्ली स्थित होटल द प्लाजा में गलत नाम और आईडी से रुके थे। आरोपियों ने होटल मैनेजर को पांच हजार रुपए की रिश्वत दी और होटल में राजू के नाम से ठहरे थे।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मोबाइल सर्विलांस के आधार पर असम पुलिस होटल पहुंची। होटल मैनेजमेंट ने बताया कि इस नाम के आरोपी उनके होटल में नहीं ठहरे। असम पुलिस होटल में रुके मेहमानों की सूची लेकर चली गई। दोनों आरोपी होटल से दक्षिणी दिल्ली व एयरपोर्ट पहुंचे। इनमें से एकराजीव कालिथा एयरपोर्ट से फ्लाइट लेकर असम चला गया।

असम में मोबाइल सर्विलांस के आधार पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। आरोपी ने पूछताछ के आधार पर इमरान शा चौधरी को दक्षिणी दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया गया। इन आरोपियों ने खुलासा किया कि वे होटल द प्लाजा में ठहरे थे। असम पुलिस ने इसकी शिकायत नई दिल्ली जिला डीसीपी दीपक यादव से की। दिल्ली पुलिस ने जब जांच की तो पता लगा कि होटल प्रशासन ने मेहमानों की सूची में से राजू का नाम डिलीट कर दिया था।

इसके बाद कनॉट प्लेस थाने में होटल के दो मैनेजरों अनिल कुमार, रोहित और होटल मालिक के खिलाफ जालसाजी का केस दर्ज किया है। हालांकि इस मामले में गुरुवार शाम तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई थी।