असम के वित्त और स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा जो कि असम के राजनीतिक चाणक्य कहे जाते हैं  उन्होंने उदलपुरी जिले में कलईगांव कॉलेज के खेल मैदान में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बोडो बेल्ट में बदलाव लाने के लिए अलग रणनीति बनाई है। बिस्वा ने कहा कि बोडो बेल्ट के लिए हमने लड़ाई लड़ी है। साथ ही में लोगों से आगामी बीटीसी चुनावों में भाजपा को वोट देने का आग्रह किया।


उदलपुरी जिले के लोगों से बिस्वा ने कहा कि इस क्षेत्र में रहने वाले प्रत्येक समुदाय के समावेशी विकास और विकास के लिए भगवा पार्टी की प्रतिबद्धता है। हाग्रामा मोहिलरी के नेतृत्व वाले बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) पिछले 15 वर्षों से इस क्षेत्र में सत्ता में है, लेकिन उसके कार्यकाल में गड़बड़ी के आरोपों के आरोप लग रहे हैं। हिमंत बिस्वा सरमा जो भाजपा के नेतृत्व वाले पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (NEDA) के संयोजक हैं।

सरमा ने BPF पर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां के कोच-राजबोंग्स, आदिवासियों और अन्य समुदायों को केवल चुनाव के दौरान ही BPF लोगों को याद करता हैं। और यहां के लोगों को नौकरियों और भूमि अधिकारों से वंचित करते हैं। सरमा ने लोगों से आग्रह किया कि वे BTC  चुनाव में भगवा पार्टी यानी कि भाजपा को वोट देकर सम्मान और समानता के साथ जीने के अपने पूर्ण अधिकारों को सुरक्षित करें। सरमा ने भरोसा जताया कि BTC  में बीजेपी की सरकार बनेगी और उन्होंने दावा किया कि बोडो बेल्ट में हर समुदाय को समान अधिकार मिलेगा।