असम-मिजोरम सीमा पर दो पक्षों के बीच खरतनाक झड़प हो गई है जिससे तनाव खड़ा हो गया है। झड़प के बाद दोनों पक्षों के बीच घिनौना खेल शुरू हो गया और इस खेल में कई घरों में आग लगा दी गई। बता दें कि झड़प में कई लोग घायल हो गए हैं। स्थानीय पीड़ित लोग एक-दूसरे को झड़प के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मिजोरम के कोलासिब जिले में विवादित बाईराबाई-जोफई क्षेत्र और इसी विवादित क्षेत्र को असम के हैलाकांडी जिले में कचूरथल के रूप में जाना जाता है। बता दें कि दोपहर में दोनों पक्षों के स्थानीय लोगों के बीच झड़पें हुईं।


इस तनाव के लिए यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि झगड़े में कितने लोग घायल हुए हैं। जबकि, असम की रिपोर्टों में बताया गया है कि 3 व्यक्ति घायल हुए हैं, अन्य लोगों का कहना है कि झगड़े में असम के 10 लोग घायल हुए हैं। इस बीच, मिज़ोरम की रिपोर्टों का कहना है कि मिज़ोरम की ओर से 3 लोग घायल हो गए हैं और दूसरी ओर, असम के उपद्रवियों द्वारा कम से कम 20 घरों को तोड़ दिया गया। इसी तरह, मिज़ोरम की ओर से कम से कम 6 खेत झोपड़ियों में उपद्रवियों द्वारा आग लगा दी गई थी।


दोनों राज्यों की पुलिस और जिला प्रशासन ने स्थिति का जायजा लिया है। हेलाकांडी जिले के उपायुक्त मेघ निधि दहल ने कहा कि इस मामले की जांच करने वाली एक टीम है। इससे पहले पिछले साल अगस्त में विवादित लायलपुर-वैरांग्ते इलाके में असम-मिजोरम सीमा पर हिंसक झड़पें हुई थीं। स्थिति इतनी बढ़ गई कि केंद्र को स्थिति को सामान्य बनाने के लिए हस्तक्षेप करना पड़ा। अभी भी हालात कुछ ऐसे ही बन रहे हैं।