असम राज्य पूर्वोत्तर के कई राज्यों के साथ बाउंडरी लाइन को लेकर विवादों में रहता है। इसी के साथ सीमा के स्थानियों के लोगों के बीच भी इस विवाद को लेकर कई तरह की झड़प हो जाती है। इन्हीं समस्याओं को सुलझाने के लिए असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (Himanta Biswa) ने इस साल सीमा विवादों को खत्म करने का फैसला लिया है।


मुख्यमंत्री ने डिब्रूगढ़ जिले के दुलियाजान शहर में आयोजित असम SP सम्मेलन के दूसरे दिन पत्रकारों को संबोधित करते हुए जानकारी साझा की है कि पड़ोसी पूर्वोत्तर राज्यों अरुणाचल प्रदेश और मेघालय के साथ राज्य की सीमा पर टकराव (Border Dispute resolved) इस साल के अंत तक सुलझा लिया जाएगा।
सीएम सरमा (Himanta Biswa) ने उल्लेख किया कि " यह उम्मीद की जा सकती है कि अरुणाचल प्रदेश और मेघालय के साथ अंतरराज्यीय सीमा संबंधी विवाद चालू वर्ष 2022 के अंत तक खत्म हो जाएंगे। उन्होंने पूर्वोत्तर राज्यों के सीमा विवादों को एक समस्याग्रस्त मुद्दा माना, हालांकि उन्होंने आश्वासन दिया कि यह हो सकता है इस साल के अंत तक खत्म हो जाएगा "।सीएम ने आगे कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों की सीमा मुख्य रूप से मिजोरम (Mizoram ) और नागालैंड (Nagaland) के बीच एक बहुत ही जटिल मामला है। विशेष रूप से, असम और मेघालय सरकार 12 अंतर-राज्यीय सीमा संघर्षों को हल करने के लिए विवादित सीमा क्षेत्रों के संयुक्त अवरोधन की कवायद में शामिल हैं।
रिपोर्टों के अनुसार असम और मेघालय दोनों राज्यों की सरकार द्वारा दो क्षेत्रीय समितियां स्थापित की गई हैं और ये समितियां वर्ष 2022 की शुरुआत तक अपने संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए हैं।