असम में कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा होता ही जा रहा है। इसी के चलते बोंगाईगांव पब्लिक हेल्थ सेंटर को सील कर दिया गया है। बोंगाईगांव पब्लिक हेल्थ सेंटर में कार्यरत 109 परिवार के सदस्यों सहित कुल मिलाकर 148 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है। क्योंकि COVID-19 के लिए सकारात्मक पाए गए चार व्यक्तियों में से दो बोंगाईगाँव PHC में कर्मचारी हैं।


जानकारी के लिए बता दें कि जिला प्रशासन ने शहर में तीन क्षेत्रों को रेड जोन घोषित किया है, जिससे लोगों का आवागमन प्रतिबंधित है। जिले में आज सुबह से ही कड़ी तंगी देखी गई क्योंकि किसी भी दुकान को आवश्यक वस्तुओं को खोलने और बेचने की अनुमति नहीं थी। इसी के साथ डॉक्टर महबिबुल इस्लाम, जो डॉक्टर, ब्लॉक पब्लिक हेल्थ सेंटर के प्रभारी हैं, को माकरज के साथ उनके संपर्क के कारण छोड़ दिया गया है।

स्वास्थ्य केंद्र की महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि डॉ. इस्लाम ने अपने बेटे के यात्रा इतिहास होने के बावजूद उसे क्वारंटीन में नहीं रखा। इसी के साथ डॉ. इस्लाम ने स्वास्थ्य केंद्र के दो श्रमिकों - बबीता बसेफ और अनुपम ठाकुरिया को भी क्वारंटीन में नहीं रखा, जिसके बाद में वे कोविड -19 पॉजिटिव पाए गए।