असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने मौजूदा विधानसभा के आखिरी दिन शनिवार को भरोसा जताया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आगामी राज्य चुनावों में सत्ता बरकरार रखेगी। सोनोवाल ने राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा, भाजपा नीत गठबंधन सरकार ने बहुत बेहतर प्रदर्शन किया है। विपक्ष के बीच कोई नाराजगी नहीं होनी चाहिए, लेकिन तथ्य यह है कि हम सत्ता में फिर लौट कर आएंगे। 

उन्होंने कहा, हम वापस आएंगे, हमें एक साथ काम करना होगा। उन्होंने सदन के अध्यक्ष हितेन्द्र नाथ गोस्वामी का नये विधानसभा हॉल में सबसे पहले भाषण देने का अवसर प्रदान करने के लिए आभार व्यक्त किया। गोस्वामी ने आज ही दिन में इस हॉल का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने सभी वर्गों के समावेशी एवं सर्वांगीण विकास के लिए अपनी प्रतिबद्धता को पूरा किया। उन्होंने कहा, विकास तेजी से हुआ है। हमने यह सुनिश्चित करने की कोशिश की है कि कोई भी जायज मांग अधूरी ना रहे।

 सोनोवाल ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में कोई बड़ी सांप्रदायिक संघर्ष या हिंसा की घटनाएं नहीं हुई हैं। उन्होंने कहा कि शांति की वापसी ने राज्य में विकास को आगे बढ़ाने में मदद की है। उन्होंने कहा कि सरकार सभी वर्गों और हिस्सों के लोगों को एक साथ लाने के लिए काम कर रही है ताकि कोई भी विकास की कहानी में पीछे न रहे। उन्होंने कहा, हमारे विचारों में कोई भ्रष्टाचार नहीं है जिसके कारण विकास संभव हो पाया। सरकार ने सभी स्तरों पर भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। सोनोवाल ने कोरोना वायरस महामारी की चुनौतियों का उल्लेख करते हुये कहा कि राज्य सभी के संयुक्त प्रयासों के कारण इसे खत्म करने में सक्षम हो पाया। उन्होंने कहा, मार्च से दिसंबर तक कोविड-19 प्रतिबंधों ने हमारी सरकार से मूल्यवान समय छीन लिया, जिस दौरान हम और अधिक विकास कार्य कर सकते थे। मुख्यमंत्री ने कहा, हम अपने प्रधानमंत्री के आदर्श वाक्य ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ को ध्यान में रखते हुए काम कर रहे हैं।