पूर्वोत्तर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) (BJP) के मुख्य रणनीतिकार और असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (himanta biswa sarma) ने कहा कि सत्तारूढ़ दल मणिपुर (Manipur Assembly Elections) में अपने दम पर अगली सरकार बनाने के लिए आश्वस्त है और उसे किसी सहयोगी के समर्थन की आवश्यकता नहीं है।

आपको बता दें कि भाजपा ने मेघालय में कॉनराड संगमा (Conrad Sangma) के नेतृत्व वाली एनपीपी (NPP) के साथ गठबंधन कर रखा है, लेकिन मणिपुर में यही पार्टी भाजपा के सामने मुख्य प्रति प्रतिद्वंद्वी के रूप में सामने आ रही है। हिमंता बिस्वा सरमा (himanta biswa sarma) ने कहा कि भाजपा ने मेघालय में एनपीपी के साथ जरूर गठबंधन किया है, लेकिन जहां तक मणिपुर का सवाल है, भाजपा अपने दम पर सरकार बनाएगी। भाजपा का प्राथमिक ध्यान अब पार्टी के भविष्य की स्थिति को देखने के बजाय एक ठोस बहुमत प्राप्त करने पर है। सरमा ने इंफाल में एक बैठक को संबोधित करते हुए ये बातें कही। सरमा भाजपा के नेतृत्व वाले नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (एनईडीए) (NEDA) के संयोजक भी हैं। 

गौरतलब है कि मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण (Manipur election First Phase) के लिए कुल 176 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किया। इंफाल पश्चिम जिले में कुल 56 उम्मीदवारों (Manipur candidates) ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया, जिनमें से आठ उम्मीदवार सेकमाई निर्वाचन क्षेत्र से, पांच-पांच कीशमथोंग, लमसांग, कोंगथौजम और लंगटाबल से, चार-चार उरीपोक, सिंगजामेई, पटसोई और नौरिया पखांगलक्पा से और सगोलबंद, वांगोई और सगोलबंद, वांगोई और मायांग इंफाल सगोलबंद, वांगोई और मायांग इंफालमा से तीन-तीन हैं। इंफाल पूर्व में, 10 विधानसभा क्षेत्रों में कुल 45 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। -खुरई से सात, खुंद्रकपम से छह, याइकुल, केशत्रीगांव और लामलाई से पांच-पांच, वांगखेई और एंड्रो से चार-चार, थोंगजू से तीन और हेंगांग से दो उम्मीदवार शामिल हैं। बिष्णुपुर में 22 उम्मीदवार हैं, जिनमें से सात उम्मीदवार ओइनम से हैं। खुंबी से पांच, बिष्णुपुर और मोइरंग से तीन-तीन और नंबोल और थंगा विधानसभा क्षेत्र से दो-दो।