पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी स्थित दोमोहानी में गुरुवार को भीषण रेल हादसा (bikaner guwahati express derailed) हुआ। यहां गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतरकर ट्रैक के आसपास गिर गए। घटना में अब तक 9 लोगों की मौत की खबर है, जबकि करीब 45 लोगों के घायल होने की बात सामने आई है। वहीं इस हादसे (bikaner guwahati express Accident) में घायल हुए एक यात्री के परिजनों को तलाशने के लिए असम की एक मस्जिद से घोषणा करवाई गई। 

परिजनों को तलाशने गांव भेजा गया डाकिया

दरअसल हादसे में असम के धुले में रहने वाला यात्री घायल हो गया था। घायल यात्री के पास फोन नहीं होने के चलते वक्त अपने परिजनों से संपर्क नहीं कर पा रहा था। ऐसे में यात्री के परिजनों को ढूंढने के लिए रेलमंत्री ने असम के एक गांव में मस्जिद से घोषणा कराई गई। रेल मंत्री (railway Minister) के कहने पर एक स्थानीय डाकिए को उसके गांव भेजा गया, लेकिन काफी कोशिश करने के बाद भी डाकिया घायल यात्री के परिजनों को नहीं तलाश पाया। इसके बाद धुले गांव की एक मस्जिद से जुमे की नमाज के बाद घोषणा करवाई गई। इसके बाद घायल यात्री के परिजनों का पता चल पाया और डाकिए ने फोन पर परिजनों की घायल यात्री से बातचीत करवाई। 

तीन मृतकों की नहीं हो पाई पहचान
वहीं  रेलवे (Indian Railway) ने मृतकों के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है जबकि गंभीर रूप से घायलों के लिए एक लाख रुपये की घोषणा की गई है। बता दें कि हादसे में मारे गए लोगों में से तीन की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। जबकि 2 महिला और 4 पुरुष मृतकों की पहचान हो चुकी है। वहीं 10 यात्री गंभीर रूप से घायल हैं। वहीं 16 लोगों को मोयनागुड़ी के सरकारी अस्पताल और 24 लोगों को जलपाईगुड़ी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 
रेलवे ने दिए उच्चस्तरीय जांच के आदेश
रेलवे के मुताबिक घटना की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर्स (helpline numbers) भी जारी किए हैं। 03612731622 और 03612731623 इसके साथ ही रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर 8134054999 भी जारी किया है। कई लोग ट्रेन में अभी फंसे हुए हैं, जिनके रेस्क्यू के लिए अभियान जारी है। रेलवे के मुताबिक ट्रेन नंबर 15633 बीकानेर एक्सप्रेस (bikaner guwahati express) मंगलवार की रात को राजस्थान के बीकानेर से रवाना हुई थी। गुरुवार सुबह 5.44 बजे ट्रेन पटना रेलवे स्टेशन से चलकर दोपहर 2 बजे किशनगंज पहुंची थी और वहां से गुवाहाटी के लिए रवाना हुई थी। इस दौरान करीब शाम पांच बजे यह हादसा हुआ।