असम सरकार ने बाढ़ एवं अन्य प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित महिलाओं एवं किशोरियों को दी जाने वाली राहत सामग्री की सूची में सैनिटरी नैपकिन को भी शामिल किया है। 

राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग आयुक्त एवं सचिव एमएस मणिवन्नन ने हाल में यह आदेश जारी किया है। 

आदेश के मुताबिक, बाढ़ आदि आपदा के दौरान महिलाओं और किशोरियों की गरिमा को बनाए रखने के लिए डीसी और एसडीओ स्तर के अधिकारियों को जीआर (निशुल्क राहत सामग्री) कोष से राहत सामग्री की सूची में सैनिटरी नैपकिन शामिल करने को कहा गया है।