असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने शनिवार को बताया कि पहली बार चाय बागानों में सरकारी माध्यमिक स्कूल खोले जा रहे हैं। जिनमें 97 स्कूलों में शैक्षनिक सत्र अगले महीने शुरू होने वाला है। साथ ही उन्होंने कहा एक ओरियंटेशन कार्यक्रम में इन नवनिर्मित स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाचार्यों को संबोधित करते हुए कहा कि चाय बागानों में शैक्षनिक वातावरण को बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने इन क्षेत्रों में 119 मॉडल माध्यमिक स्कूल स्थापित करने का निर्णय लिया है। बात दें कि इन स्कूलों के शैक्षनिक सत्र 10 मई से शुरू होगा।

यह भी पढ़ें- रूस के दोस्त चीन से मदद मांगने पहुंचा यूक्रेन, कर दी ऐसी मांग

सरमा ने कहा कि शेष स्कूल अगले शैक्षणिक वर्ष तक काम करने लगेंगे। इन स्कूलों को बाद में अद्यतन कर उच्च माध्यमिक स्तर का किया जाएगा। सरमा ने दावा किया कि आजादी के बाद पहली बार राज्य सरकार द्वारा चाय बागान क्षेत्रों में माध्यमिक स्कूल स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चाय बागान क्षेत्रों में 81 मॉडल माध्यमिक स्कूल स्थापित करने जा रही है और इन्हें उच्च माध्यमिक स्तर तक अपग्रेड किया जाएगा।

यह भी पढ़े : राशिफल 3 अप्रैल: मेष, वृष, मिथुन वालों के लिए  भारी नुकसान के बन रहे हैं योग, ग्रहों की स्थिति आज कुछ खास नहीं

उन्होंने कहा कि सरकार मध्याह्न भोजन के अलावा छात्रों को नाश्ता उपलब्ध कराने की भी योजना बना रही है। इन स्कूलों में दो श्रेणियों में शिक्षकों की नियुक्ति की जा रही है। एक विशेष तौर पर इन्हीं स्कूलों के लिए शिक्षकों की नियुक्ति और दूसरा, वैसे शिक्षक, जिन्हें पहले से ही प्रांतीय स्कूलों से इन स्कूलों में स्थानांतरित किया गया है। सरमा ने कहा कि राज्य सरकार इसे देश के बाकी हिस्सों के लिए एक सफल मॉडल के रूप में विकसित करना चाहती है। उन्होंने कहा कि सरकार प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक मॉडल स्कूल स्थापित करने की दिशा में काम कर रही है।