पुलिस ने कछार जिला मुख्यालय शहर सिलचर के बाहरी इलाके रामनगर में दो ट्रकों से एक करोड़ रुपए की बर्मीज (म्यांमार) की सुपारी जब्त की। अवैध रूप से लायी गयी बर्मीज सुपारी की तस्करी के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ेंः फ्रंटफुट पर खेल रहे हैं असम के मुख्यमंत्री सरमा, ट्वीट के जरिए फिर साधा केजरीवाल पर निशाना


कछार के नए पुलिस अधीक्षक नोमल महतो ने संवाददाताओं को बताया कि गुप्त जानकारी के आधार पर दो ट्रक (जेएच-10बीजी-7340 और एएस-11एसी-2686) को रामनगर में आईएसबीटी टर्मिनल के पास पकड़ा गया। दोनों से लगभग 200 बोरी सुपारी जब्त की गई। इसका बाजार मूल्य करीब एक करोड़ रुपये का आंका गया है। पुलिस ने ट्रक के दो चालकों समेत कुल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए दो ड्राइवरों की पहचान कछार जिला के कलान थाना क्षेत्र के बिहाड़ा के सलेम अहमद (38) और धलाई थाना के भागा बाजार के कृपेश दास (40) के रूप में हुई है। पुलिस अधीक्षक महतो ने कहा कि इस मामले में अन्य तीन तस्करों को गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ेंः इस्लामिक संगठनों से मिले असम के DGP, आतंकियों को खोजने में मांगी मदद


पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सुपारी से लदे दो ट्रकों को उनके गंतव्य तक सुरक्षित पहुंचाने के लिए पुलिस ने ट्रक के पीछे चल रहे एक नीले रंग की कार (एमएल-10बी-8883) को जब्त किया गया, जिसमें सुपारी के तीन तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि सिंडिकेट की योजना मिजोरम से कछार जिले के विभिन्न सड़कों के माध्यम से असम होते हुए देश के अन्य हिस्सों बर्मीज सुपारी से लदे दो ट्रकों की तस्करी करने की थी, लेकिन पुलिस ने उनकी अवैध गतिविधियों की योजना को बीच में ही नाकाम कर दिया। हालांकि, कछार जिला के विभिन्न सड़कों के माध्यम से बर्मीज सुपारी सहित विभिन्न प्रकार के निषिद्ध सामानों की तस्करी के लिए जिले का उपयोग तस्करी के गलियारे के रूप में नहीं करने दिया जाएगा।