महादेवी शिव की पत्नी सती के 108 रूपों में से एक बगलामुखी भी है। हिंदू धर्म में इस देवी की पूर्जा अचर्ना दुष्ट आत्माओं से छुटकारा पाने के लिए की जाती है। Baglamukhi अथवा Bagala शब्द संस्कृ​त के Valga शब्द से है जिसका अर्थ दुल्हन अथवा दुष्ट शक्तियों को रोकने वाली देवी होता है। उत्तर से लेकर पूर्वोत्तर भारत में बगलामुखी देवी को पीतांबरी मां के नाम से भी जाना जाता है।



आपको बता दें कि Bagalamukhi Devi को दशों शक्तियां प्रदान करने वाली माना गया है। यह अपने आप भी स्त्री की संपूर्ण शक्तियों वाली देवी हैं जो भक्तों पर संपूर्ण कृपा बरसाती हैं।



भारत में बगलामुखी माता के मंदिर Bagalamukhi Devi Temples in Inida देश के कई राज्यों में स्थित हैं। देवी बगलामुखी का मुख्य मंदिर मध्य प्रदेश राज्य के नलखेला में है। इसके अलावा असम के कांगड़ा, उत्तराखंड के गुट्टू, असम के गुवाहाटी स्थि​त कामाख्या देवी मंदिर के पास और हिमाचल प्रदेश में भी देवी बगलामुखी माता के प्रमुख मंदिर स्थित है।



आपको बता दें कि बगलामुखी देवी को Kalyani यानि कल्याणी देवी के नाम से भी जाना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी की भारत के अलावा बगलामुखी देवी का मंदिर नेपाल Bagalamukhi Devi Temple in Neplal भी स्थित है और काफी प्रसिद्ध है।