असम विधानसभा चुनाव में 71 साल के आल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रैटिक फ्रंट यानी AIUDF के मुखिया बदरूदीन अजमल चुनाव का हुक्म का इक्का माना जा रहा है। इस चुनाव में कांग्रेस ने अजमल के साथ है। बीजेपी अपने काम तो गिनवा रही है, लेकिन उसके तमाम नेताओं के निशाने पर अजमल ही हैं और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि “बदरूदीन अजमल के साथ कांग्रेस से राज्य में अवैध घुसपैठ रोकने की आप उम्मीद कर सकते है ”।


शाह ने बताया कि “कांग्रेस असम मे अजमल के साथ, बंगाल में फुरफ़ुरा शरीफ के साथ और केरल में मुस्लिम लीग के साथ गठबंधन कर चुनाव जीतने की उम्मीद करती है ”। शाह ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि “जनता सब समझ रही है और 2021 के विस चुनाव में असम में उसकी हार का एक बड़ा कारण भी अजमल ही बनेगा ”। जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस ने असम में महागठबंधन किया है।
 

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल ने भी एआईयूडीएफ के मुखिया अजमल पर तीखा हमला करते हुए कहा कि अवैध घुसपैठियों की मदद करने वाले अजमल देश के दुश्मन है लेकिन कांग्रेस उसका साथ दे रही है। राज्य और देश में यही लोग है जो अवैध घुसपैठ को बढ़ावा देते हैं। इन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि 2005 में गठन के बाद से एआईयूडीएफ बांग्लादेश से अवैध मुस्लिम घुसपैठियों को बढ़ावा देती है और अजमल के साथ गठबंधन कर कांग्रेस ने एक बड़ा राजनीतिक दांव खेला है।