असम में राजनीतिक दलों ने मंगलवार को चुनाव आयोग से राज्य विधानसभा चुनाव तीन चरणों में कराने का अनुरोध किया। साथ ही उन्होंने अप्रैल में होने वाले 'रोंगाली बिहु' त्योहार से पहले ये चुनाव संपन्न कराने की भी अपील की। राज्य के तीन दिवसीय दौर पर आई आयोग की पूर्ण पीठ ने गुवाहाटी के एक होटल में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की।

भाजपा नेता जयंत मल्ला बरुआ ने बताया कि सत्तारूढ़ दल ने आयोग से बिहु त्योहार से पहले तीन चरणों में विधानसभा चुनाव आयोजित कराने का अनुरोध किया। इसी तरह, एआईयूडीएफ, एजीपी और माकपा ने भी बिहु से पहले दो या तीन चरणों में चुनाव कराने का अनुरोध किया ताकि राज्य के लोग इस प्रमुख त्योहार को आराम से मना सकें।

कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारी निरेन बोराह ने कहा कि पार्टी ने चुनाव आयोग से बिहु के बाद चुनाव आयोजित कराने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि चुनाव की तारीखों के संबंध में निर्णय लेना आयोग का विशेषाधिकार है। साथ ही कहा कि कांग्रेस तीन चरणों में चुनाव कराने के पक्ष में है। बोराह ने कहा कि पार्टी ने आयोग से मतदान और मतगणना के बीच कम दिनों का अंतर रखने के साथ ही मतगणना केद्रों में पर्याप्त संख्या में सीसीटीवी लगवाने का भी आग्रह किया। साथ ही दूरदराज एवं संवेदनशील इलाकों में पर्याप्त संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की भी अपील की।