कांग्रेस ने असम और केरल के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर शनिवार को दोनों राज्यों के लिए तीन-तीन सचिव नियुक्त किए हैं, जो संबंधित प्रभारी महासचिवों के सहयोगी की भूमिका में होंगे। पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इनकी तत्काल प्रभाव से नियुक्ति की है।

अनिरुद्ध सिंह, विकास कुमार उपाध्याय और पृथ्वीराज साठे को असम के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का सचिव नियुक्त किया गया है। तीनों लोग असम के प्रभारी महासचिव जितेंद्र सिंह के सहयोगी की भूमिका में होंगे। हरिपाल रावत और संजय चौधरी को असम के लिए संयुक्त सचिव की भूमिका से मुक्त भी किया गया है।

वहीं, केरल के लिए पी विश्वनाथन, इवान डिसूजा और पीवी मोहन को सचिव बनाया गया है, जो कांग्रेस के महासचिव और प्रदेश प्रभारी तारिक अनवर के साथ काम करेंगे। असम और केरल में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं। इन दोनों राज्यों में कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी है।

मालूम हो कि अगले साल 2021 में पश्चिम बंगाल समेत देश के पांच राज्यों- केरल, असम, तमिलनाडु और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, जिसके लिए राजनीतिक पार्टियों ने बड़े स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इन पांच राज्यों में से एक-एक राज्य में कांग्रेस और बीजेपी की सरकार है, जबकि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (TMC) और केरल में वामपंथी पार्टी की सत्ता है।

पश्चिम बंगाल में अगले साल की शुरुआत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं। केरल में भी अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं। पिछले चुनाव में राज्य में CPI (M) के नेतृत्व वाले लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) की सत्ता काबिज हुई। 2016 के विधानसभा चुनाव में LDF को 91 सीटें मिली थीं। वहीं, कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) ने 47 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

वहीं, असम में अगले साल अप्रैल-मई में चुनाव होंगे। असम में पिछले पांच सालों से NDA की सत्ता है और वर्तमान में BJP के नेता सर्बानंद सोनोवाल मुख्यमंत्री हैं। यहां 2016 के चुनाव में बीजेपी ने 60 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जबकि कांग्रेस ने राज्य 122 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिनमें से उसे केवल 26 सीटें ही मिल पाई थीं।