हिमंत बिस्वा सरमा के नेतृत्व वाली असम सरकार ने चाय बागान श्रमिकों के लिए दैनिक वेतन में 27 रुपये की वृद्धि की है। अब असम की बराक घाटी में चाय श्रमिकों को प्रति दिन 210 रुपये और ब्रह्मपुत्र घाटी के लिए 232 रुपये मिलेंगे।

ये भी पढ़ेंः असम में चल रहा हिन्दू संगठन का प्रशिक्षण शिविर, छोटे हथियारों से लड़ना सीखा रहा


असम भारत के कुल चाय उत्पादन का लगभग आधा हिस्सा है। कुल मिलाकर भारत वैश्विक चाय उत्पादन में 23 प्रतिशत का योगदान देता है। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि यह संशोधित वेतन वृद्धि 1 अगस्त से संभावित रूप से प्रभावी होगी। सरमा ने कहा, चाय बागान प्रबंधन और श्रमिक संघ के साथ एक बैठक में उनके दैनिक वेतन में राशन और अन्य लाभों के अलावा 27 रुपये की वृद्धि करने का निर्णय लिया गया।

ये भी पढ़ेंः हाई कोर्ट का सरकार को निर्देश , होमगार्ड को राज्य पुलिस कर्मियों के बराबर मिले वेतन


बता दें कि असम में चाय श्रमिक बड़ी संख्या में हैं और 40 निर्वाचन क्षेत्रों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।वेतन के अलावा सभी श्रमिकों को राशन कार्ड भी मिलेंगे। 2021 में राज्य के चुनावों से ठीक पहले असम में भाजपा सरकार ने दैनिक वेतन में 38 रुपये की बढ़ोतरी की थी।