गुवाहाटी गैंगरेप मामले का मुख्य आरोपी बीकी अली असम पुलिस की फायरिंग की घटना में मारा गया है। बिकी अली को असम पुलिस के कर्मियों ने उस समय गोली मार दी थी जब उसने कथित तौर पर हिरासत से भागने की कोशिश की थी।

यह भी पढ़े : Horoscope March 16 : आज इन राशि वालों को मिलेगा किस्मत का साथ, ये लोग पास रखें पीली वस्तु


पुलिस ने दावा किया कि बिकी अली को उस समय गोली मार दी गई थी जब वह हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था। जब उसे अपराध के पुनर्निर्माण के लिए मंगलवार देर रात अपराध स्थल पर ले जाया गया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हालांकि बीकी अली को तुरंत गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच) में ले जाया गया गया।  लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस फायरिंग की घटना में बीकी अली को कथित तौर पर कई गोलियां लगी थीं। गुवाहाटी पुलिस के अनुसार घटना में दो महिला पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई हैं।

यह भी पढ़े : Holika Dahan 2022: अगर पहली बार कर रहे हो होली पूजा और दहन तो जान लीजिए कैसे करें , होलिका दहन कथा


गुवाहाटी पुलिस ने बताया की बलात्कार का एक आरोपी पुलिस की गोलीबारी में मारा गया।  उसने पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की थी और मंगलवार रात गुवाहाटी में पुलिस कर्मियों पर हमला किया था। उसी दिन उसे गिरफ्तार किया गया था। इस घटना में दो महिला पुलिसकर्मी भी घायल हो गईं। 

गौरतलब है कि बीकी अली को पुलिस ने मंगलवार सुबह गिरफ्तार किया था.

इस बीच मामले के चार अन्य आरोपी- फैजुल अली, राजा अली, पूना अली और पिंकू अली अभी भी फरार हैं। पीड़िता की शिकायत पर पांचों आरोपियों के खिलाफ गुवाहाटी शहर के पान बाजार स्थित अखिल महिला थाने में मामला दर्ज किया गया है।  16 फरवरी को पीड़िता के साथ सबसे पहले बीकी अली ने दुष्कर्म किया था।  बीकी के एक दोस्त ने पूरी घटना को रिकॉर्ड कर लिया।

यह भी पढ़े : Holi 2022: होलिका दहन 17 मार्च को, ग्रहों की स्थिति से बन रहा राजयोग, इन शुभ योगों में होलिका दहन करना शुभ रहेगा


बाद में 19 फरवरी को बीकी ने पीड़िता को ब्लैकमेल करने के लिए वीडियो का इस्तेमाल किया और उसे एक होटल में जाने के लिए मजबूर किया, जहां उसके साथ चार अन्य आरोपियों ने सामूहिक बलात्कार किया।