गुवाहाटी: असम पुलिस की 27 वर्षीय एक महिला कांस्टेबल ने अपने सात महीने के बच्चे को अपने साथ ड्यूटी  ले जाते हुए फोटो वायरल हो रही है । कछार जिले के सिलचर पीआई कोर्ट में तैनात सचिता रानी रॉय को अपने बच्चे के साथ अपने कार्यालय में घूमते हुए देखा गया।

यह भी पढ़े : भारत को आंख दिखाने वाले ये OIC देश अनाज-फलों के लिए हमारे देश पर निर्भर, लेकिन 


रॉय रोज सुबह 10:30 बजे अपने बच्चे के साथ ऑफिस पहुंचती हैं और अपनी ड्यूटी पूरी करने के बाद ही निकलती हैं। 26 सप्ताह का मातृत्व अवकाश समाप्त होने के बाद वह कार्यालय में शामिल हुईं। 

यह भी पढ़े : पैगंबर पर टिप्पणी मामले में बोलीं कंगना रनौत- ‘हिंदू देवताओं का रोज अपमान होता है’


महिला सिपाही ने अपनी छुट्टी बढ़ाने के लिए आवेदन किया था लेकिन अधिकारियों ने अभी तक इसकी अनुमति नहीं दी है। उन्होंने कहा कि बच्चे की देखभाल के लिए घर पर कोई नहीं है।

यह भी पढ़े : Nirjala ekadashi vrat:  इस बार निर्जला एकादशी व्रत को लेकर कंफ्यूजन, यहां जानिए कौनसी तारीख को रखे व्रत 


रॉय ने कहा, मेरे पास अपने बच्चे की देखभाल करने के लिए घर पर कोई नहीं है इसलिए मुझे उसे अपने साथ लाने के लिए मजबूर किया जाता है। यह कई बार असहज हो जाता है लेकिन मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है।  रॉय के पति केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान हैं और असम के बाहर तैनात हैं।

यह भी पढ़े : नीदरलैंड के सांसद का बड़ा बयान , बोले- नूपुर शर्मा ने कुछ भी गलत नहीं कहा, मांफी मांगने की जरूरत नहीं


सिलचर के मालूग्राम इलाके की निवासी रॉय ने कहा कि वह अपने सहयोगियों और पुलिस विभाग की बहुत ही मिलनसार होने के लिए आभारी हैं। महिला ने बताया की मैं थोड़ा जल्दी निकल जाती हूं क्योंकि बच्चे के लिए पूरे दिन मेरे साथ रहना बहुत मुश्किल हो जाता है।"

रॉय ने कहा, "मैंने आगे की छुट्टी के लिए आवेदन किया है, लेकिन जब तक इसे मंजूरी नहीं मिल जाती, मैं इस तरह से अपनी ड्यूटी जारी रखूंगा।"