असम में ‘ट्रिगर हैप्पी’ की इमेज को लेकर विपक्षी दलों की आलोचना झेल रही असम पुलिस ने एक अन्य मामले में कथित तौर पर हिरासत से भागने की कोशिश कर रहे आरोपी को गोली मार दी। 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरुवार देर रात पुलिस ने लूट के एक आरोपी के पैर में उस समय गोली मार दी , जब वह कथित तौर पर हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था। उसे घायलावस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

उल्लेखनीय है कि हाल में पुलिस द्वारा आरोपियों के भागने की कोशिश के दौरान उन पर गोली चलाये जाने की घटनाएं बढ़ी है। विपक्षी दलों ने इसे मुद्दा बनाते हुए सवाल उठाया है कि आखिरकार आरोपी पुलिस हिरासत से भागने की कैसे इतनी कोशिश कर रहे हैं और कामयाब भी हुए हैं। शिवसागर के विधायक अखिल गोगोई ने आरोपियों पर गोली चलाने की घटनाओं में अचानक वृद्धि के लिए असम सरकार और प्रदेश की पुलिस को फटकार लगायी है। उन्होंने कहा कि मुकदमे से पहले ही पुलिस द्वारा आरोपियों को गोली मारना ‘ अलोकतांत्रिक और फासीवादी’ प्रवृत्ति है।