उल्फा (आई) को झटका देते हुए प्रतिबंधित संगठन के दो कैडरों ने अरुणाचल के चांगलांग जिले के नाम्पोंग में शुरू किए गए एक बड़े अभियान में उप महानिरीक्षक (पूर्वोत्तर रेंज) जितमल डोले के नेतृत्व में असम पुलिस और असम राइफल्स की एक संयुक्त टीम के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।आत्मसमर्पण करने वाले कैडरों की पहचान जागरण एक्सोम और धोनी एक्सोम के रूप में हुई है।

सूत्रों के अनुसार, उल्फा (आई) और एनएससीएन (के-वाईए) कैडरों के एक संयुक्त समूह की आवाजाही पर एक विशिष्ट सूत्रों के आधार पर सुरक्षा बलों ने नम्पोंग के घने जंगलों में एक अभियान शुरू किया।

यह भी पढ़े : Monthly Horoscope March 2022: इस महीने इन राशि वालों को करियर में आएगा जबरदस्त बूम , इनकी राशि वालों की बढ़ेंगी मुश्किलें


एक सूत्र ने कहा कि दो कैडरों ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।  अन्य सदस्य मैदान छोड़कर जंगलों के अंदर भाग गए। समूह का नेतृत्व तथाकथित कप्तान मृगांको असोम कर रहे थे।

सूत्र ने कहा की आत्मसमर्पण करने वाले कैडरों ने दो एमक्यू 81 असॉल्ट राइफलें, कुछ मैगजीन, कई राउंड गोला बारूद, बुलेट प्रूफ जैकेट और कुछ निजी सामान बरामद किया।

यह भी पढ़े : Chaitra Navratri 2022: चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल 2022 शनिवार से प्रारंभ, जानिए पूजा विधि व कलश स्थापना का शुभ मुहू

अन्य कैडरों को पकड़ने के लिए ऑपरेशन अभी जारी है। सूत्रों ने कहा कि समूह म्यांमार के साथ झरझरा सीमा के माध्यम से जबरन वसूली के उद्देश्य से भारत में प्रवेश किया था। टिप्पणी के लिए डीआईजी डोले से संपर्क नहीं हो सका।