असम और मिजोरम के बीच सीमा विवाद पर केंद्रीय गृह सचिव ने बुधवार को दोनों राज्यों के मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बैठक की। असम और मिजोरम के आला अधिकारियों के साथ यह बैठक दो घंटे से अधिक समय तक चली। बैठक में दोनों राज्यों की विवादित सीमा पर शांति बनाए रखने को लेकर बात हुई। एक फॉर्मूले पर सहमति भी बनी है।

गृहमंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि दोनों राज्य सरकारें एक तटस्थ बल की तैनाती के लिए सहमत हुईं। इसलिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के एक वरिष्ठ अधिकारी के अधीन राष्ट्रीय राजमार्ग 306 के साथ अशांत असम और मिजोरम सीमा क्षेत्र में केंद्रीय बल तैनात रहेगा। दोनों राज्य सरकारें सीमा मुद्दे को सौहार्दपूर्ण तरीके से हल करने के लिए पारस्परिक रूप से चर्चा जारी रखने पर भी सहमत हुईं।

सूत्रों के मुताबिक केंद्र ने राज्यों के बीच तनाव और हिंसा को लेकर बैठक में अपनी चिंता भी जताई और राज्यों से परिपक्वता और सौहार्द के साथ मामले को निपटाने को कहा। गौरतलब है कि असम-मिजोरम की सीमा पर सोमवार को दोनों राज्यों की पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई थी। यह संघर्ष दो गुटों के बीच अतिक्रमण के मसले को लेकर हुई थी। इसमें असम पुलिस के 6 जवान शहीद हो गए थे।

दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री इस मामले को लेकर ट्विटर पर ही वाद विवाद में उलझ गए थे। मामले को सुलझाने के लिए गृहमंत्री ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की थी। इसी सिलसिले में गृहसचिव द्वारा भी बैठक बुलाई गई थी।