असम के नेताओं और खेल जगत की हस्तियों ने मिल्खा सिंह के निधन पर शनिवार को उन्हें श्रद्धांजलि दी। राज्यपाल जगदीश मुखी ने एक बयान में कहा, “मिल्खा सिंह का निधन खेल जगत के लिए बड़ा नुकसान है। यह अत्यंत दुखद है। मुझे उनके निधन का समाचार पाकर बहुत दुख हुआ।”

उन्होंने कहा कि उनके निधन से जो रिक्तता पैदा हुई है उसे भरा नहीं जा सकेगा और “उड़न सिख” सदा लोगों की यादों में बसे रहेंगे। मुखी ने कहा, “महान खिलाड़ी का व्यक्तित्व युवा खिलाड़ियों को प्रेरित करता रहेगा।”

मुख्यमंत्री हिमंत विश्व सरमा ने कहा, “उड़न सिख कप्तान मिल्खा सिंह के निधन से दुःखी हूं। उनकी उपलब्धियों से न केवल भारत को गर्व हुआ बल्कि खिलाड़ियों की आगामी पीढ़ी को भी प्रेरणा मिली। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना।”

अंतरराष्ट्रीय धाविका हिमा दास ने ट्वीट किया, “एशियाई खेलों में विश्व चैंपियनशिप अंडर 20 जीतने के बाद मुझे याद है कि मिल्खा सिंह सर ने फोन किया था। उन्होंने कहा कि हिमा मेहनत करती रहो तुम्हारे पास पर्याप्त समय है और तुम विश्व स्तर पर देश के लिए स्वर्ण पदक जीत सकती हो।”

ओलंपिक बॉक्सर लवलीना बोर्गोहैन ने भी मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि दी। पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और असम प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने भी महान एथलीट के निधन पर उन्हें याद किया।