असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार गुवाहाटी को दक्षिण-पूर्व एशिया के प्रवेश द्वार में बदलने की दिशा में काम कर रही है। इंडियन चेंबर ऑफ कामर्स की वार्षिक आम बैठक को संबोधित करते हुए सोनोवाल ने कहा-'असम की आसियान बाजार के साथ-साथ बीबीआइएन (बांग्लादेश, भूटान, भारत और नेपाल) पर भी नजर है। गुवाहाटी को न केवल उत्तर-पूर्व बल्कि दक्षिण-पूर्व के प्रवेश द्वार के रूप में विकसित करने की हम कोशिश कर रहे हैं। 

आसियान ब्लॉक असम को वृहद और आकर्षक बाजार प्रदान करता है। 2018 में असम में हुए वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन में उनके राज्य को 79,000 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले थे, जिनमें से 55,000 करोड़ रुपये पहले ही राज्य में आ चुके हैं। 

मुख्यमंत्री ने आगे कहा-'हमारी सरकार केंद्र सरकार के सहयोग कार्यक्रम से एमएसएमइ क्षेत्र के लिए 2,000 करोड़ रुपये का फायदा लाने में सक्षम हुई है। हमारे राज्य का कृषि पर खास तौर पर ध्यान है और इजरायल ने इस क्षेत्र के विकास के लिए सर्वोत्तम टेक्नोलॉजी प्रदान करने का वादा किया है।

असम अब कार्गो उड़ानों के जरिए ब्रिटेन, सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात जैसे देशों में सब्जियों की भी आपूर्ति कर रहा है। सोनोवाल ने दावा किया कि उनके राज्य ने कोविड-19 का भी अच्छी तरह से मुकाबला किया है। राज्य में कोरोना से होने वाली निम्न मृत्यु दर इसका उदाहरण है। असम सरकार अब अपनी स्वास्थ्य क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रही है।