असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने लॉकडाउन के बीच में लोगों से कहा कि असम के वे मरीज जो दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं उनको सरकार उनके खातों में सुरक्षित वातावरण सुनिश्चित करने के लिए 25,000 रूपए दे रही है। साथ ही सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता में राज्य में COVID 19 को नियंत्रित करने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से सुझाव भी लिए हैं। बता दें कि इस बैठक में कांग्रेस, एजीपी, एआईयूडीएफ, बीपीएफ, सीपीआई, सीपीआई (एम) और अन्य दलों के नेताओं ने भी हिस्सा लिया था।


सोनोवाल ने नेताओं से कहा कि हर क्षेत्र निरंतर सतर्कता बनाए रखने और सरकार की सूचना को किसी भी व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए तत्पर रहें। इसी के साथ जिला प्रशासन को निर्देश दिया गया है कि विशेष रूप से लॉकडाउन अवधि के दौरान अनियंत्रितों की सेवा करें। सोनवाल ने बताया कि सरकार अपनी योजनाओं को पूरी तरह से लागू कर रही है, जिसमें लाभार्थियों के बैंक खातों में वित्तीय लाभ हस्तांतरित करना भी शामिल है।

जानकारी के लिए बता दें विभिन्न सरकारी एजेंसियां राज्य में आपूर्ति श्रृंखला को बनाए रखने के लिए काम कर रही हैं। सोनोवाल ने सर्व-पक्षीय बैठक के नेताओं को डॉक्टरों सहित सभी फ्रंटलाइन कर्मियों को धन्यवाद देने के विचार के लिए धन्यवाद दिया है। इसी के साथ कोरोना से लोगों को बचाने में लगे सफाई कर्मियों, आशा कार्यकर्ताओं और एम्बुलेंस चालकों को धन्यवाद दिया है। कहा कि ये हैं देश को सबसे बड़े फाइटर।