असम सरकार कोविड-19 से मरने वाले लोगों के परिवारों को एक लाख रुपये की एकमुश्त वित्तीय सहायता मुहैया कराएगी। राज्य की वित्त मंत्री अजंता नियोग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। निओग ने विधानसभा में 2021-22 का बजट पेश करते हुए दावा किया कि यह देश में किसी भी सरकार द्वारा अपनी तरह की पहली योजना है।

इससे पहले राज्य सरकार ने कोरोना वायरस के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए 'मुख्यमंत्री शिशु सेवा योजना' और विधवाओं के लिए मुख्यमंत्री कोविड-19 विधवा सहायता योजना' की घोषणा की थी। बच्चों की योजना के तहत हर महीने प्रति बच्चे को 3,500 रुपये की राशि दी जाएगी। अन्य योजना में कोरोना से मरने वाले लोगों की पत्नी को 2.5 लाख रुपये की एकमुश्त सहायता दी जाएगी।

मंत्री ने कहा कि नयी योजनाओं के तहत आवेदन और लाभ प्राप्त करने के तौर-तरीके स्वास्थ्य विभाग द्वारा आने वाले दिनों में जारी किए जाएंगे और कार्यक्रमों पर लगभग 40 करोड़ रुपये खर्च होंगे। निओग ने कहा कि 13 जुलाई तक राज्य में कोविड के कारण 1,345 महिलाओं सहित कुल 4,888 वयस्कों की मौत हुयी हें इसी अवधि के दौरान वायरस के कारण कुल 56 नाबालिगों की भी मौत हुयी। उन्होंने कहा कि इस साल जून तक 95,770 कोविड मरीजों को प्रतिदिन 300 रुपये मूल्य के भोजन के साथ मुफ्त इलाज मुहैया कराया गया ।