असम सरकार ने शनिवार को प्रदेश के पुजारियों से आग्रह किया कि दुर्गा पूजा से पहले वह अपना कोरोना वायरस जांच करायें ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि श्रद्धालु संक्रमित नहीं हों। अधिकारियोंने बताया कि सरकार ने पुजारियों के लिये पूजा से पहले कोरोना वायरस जांच आवश्यक किया है लेकिन कई जिलों में उनलोगों ने ऐसा करने से मना कर दिया है। 

स्वास्थ्य मंत्री हेमंत विश्व सरमा ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया, ''हमें पुजारियों की शिकायत मिली है कि वे ऐसा नहीं करना चाहते हैं, लेकिन अगर वह ऐसा नहीं करते हैं और उनमें से कोई एक भी संक्रमित हुआ तो आगामी चार दिनों में वह कई श्रद्धालुओं को संक्रमित कर देंगे।'' 

आयोजकों ने यह कहा था कि जांच अगर पंचमी को की जाती है और पुजारी संक्रमित पाये जाते हैं तो उनके बदले दूसरा पुजारी मिलना बेहद मुश्किल होगा। सरमा ने कहा, ''अगर ऐसी समस्या है तो पुजारियों की जांच पंचमी से पहले की जा सकती है। उन्हें ऐसा करना ही होगा, और अगर ऐसा नहीं होता है तो स्थिति एक बार फिर बदतर हो जायेगी।'' 

मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सभी पूजा पांडालों को निर्देश दिया है कि वह अपने दरवाजे रात साढ़े नौ बजे निश्चित तौर पर बंद कर दें लेकिन पूजा एवं अन्य परंपराओं को देखते हुये कुछ दिन इस समय सीमा को बढ़ाया जायेगा और वह निर्धारित समय से अधिक देर तक खुला रहेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड—19 की स्थिति में सुधार हुआ है और संक्रमण एवं संक्रमितों की संख्या में कमी आयी है।