कोरोना वायरस के बढ़ते कहर की वजह से असम सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब अगर मुंबई या बेंगलुरु से किसी को असम जाना है तो उसे नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट लेकर जानी होगी। यह नेगेटिव रिपोर्ट RT-PCR कोरोना टेस्ट की होनी चाहिए। महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों की राजधानी इस वक्त कोरोना की चपेट में हैं। असम सरकार की तरफ से जारी आदेश के मुताबिक, ‘हवाई यात्रा करके मुंबई और बेंगलुरु से असम आने वाले सभी यात्रियों को RT-PCR टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट लेकर आनी होगी। ये रिपोर्ट आने से 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए।’ असम सरकार का यह ऑर्डर 9 अप्रैल से प्रभावी होगा।

महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों ही राज्यों में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। दोनों राज्य उन प्रदेशों में शामिल हैं, जिनके लिए केंद्र सरकार ने चेतावनी जारी की है। देश में महाराष्ट्र की स्थिति फिलहाल सबसे खराब है। वहां शनिवार को कोरोना के 49,447 नए केस सामने आए थे। महाराष्ट्र और कर्नाटक उन 6 राज्यों में शामिल हैं जिनमें कुल एक्टिव केसों के 80 फीसदी केस मौजूद हैं। देशभर में कोविड-19 के बढ़ते मामलों और जारी टीकाकरण अभियान के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को एक उच्चस्तरीय बैठक की और वर्तमान स्थिति की समीक्षा की। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में कैबिनेट सचिव, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

रविवार को देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के 93,249 नए मामले सामने आए जो इस साल एक दिन में आए कोविड-19 के सर्वाधिक मामले हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,24,85,509 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार 19 सितंबर के बाद से कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सामने आए ये सबसे अधिक मामले हैं। 19 सितंबर को कोविड-19 के 93,337 मामले आए थे। आंकड़ों के मुताबिक रविवार को महामारी से 513 और लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,64,623 हो गई है। प्रधानमंत्री ने देश के कुछ हिस्सों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर बुधवार को चिंता जताई थी और इसे फिर से फैलने से रोकने के लिए ‘‘तीव्र एवं निर्णायक’’ कदम उठाने का आह्वान किया।