नए साल के गिफ्ट के रूप में असम सरकार (Assam Government) ने अपने कर्मचारियों (employees) को माता-पिता या ससुरालवालों से मिलने के लिए जनवरी में दो दिन की छुट्टी दी है. असम सरकार ने कर्मचारियों को 6 और 7 जनवरी, 2022 को दो दिन की छुट्टी दी है. इसके साथ ही 8 और 9 आकस्मिक अवकाश है, जिससे कुल छुट्टियों की संख्या बढ़कर 4 दिन की हो गई है.

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा (Assam Chief Minister Himanta Biswa Sarma) ने ट्वीट कर कहा कि 6 और 7 जनवरी 2022 को विशेष अवकाश के रूप में नामित किया गया है और इसलिए मैं असम सरकार के कर्मचारियों से अपने माता-पिता या ससुरालवालों के साथ गुणवत्तापूर्ण समय बिताने का आग्रह करता हूं. साथ ही कहा कि मैं उनसे अपने माता-पिता के आशीर्वाद से एक नए असम और नए भारत के निर्माण के लिए खुद को फिर से समर्पित करने का अनुरोध करता हूं.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि इस अवधि के दौरान राज्य सरकार के मंत्रियों को भी अपने माता-पिता या सास-ससुर के साथ समय बिताने का अवसर दिया गया है. वहीं जिन कर्मचारियों के माता-पिता या ससुरालवाले जीवित नहीं हैं, वो 6-9 जनवरी, 2022 वाले विशेष अवकाश के हकदार नहीं होंगे. पश्चिमी असम के बोंगाईगांव में मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की अध्यक्षता में अंतिम राज्य मंत्रिमंडल में ये निर्णय लिया गया था.

राज्य में तैनात मंत्री, आईएएस और आईपीएस अधिकारी भी इस छुट्टी का लाभ उठा सकते हैं, लेकिन पुलिस अधीक्षक स्तर तक के पुलिस अधिकारियों सहित फील्ड कर्मचारी ये छुट्टी नहीं ले सकते, लेकिन बाद की तारीख में वो इसका लाभ उठा सकते हैं.

वहीं शनिवार को आर्म्ड फोर्स स्पेशल पावर एक्ट (AFSPA) को हटाने की मांग के बीच असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने कहा था कि इस साल अफस्पा पर कुछ सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे. उन्होंने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि वो 2022 को उम्मीद भरे साल के तौर पर देखते हैं. उन्‍होंने कहा कि सेना लगभग असम से वापस ले ली गई है और केवल केवल 5-6 जिलों में ही तैनात है, इसलिए ये अच्‍छी स्थिति है.

DEMO PIC.