असम की भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार ने शुक्रवार को 29,701 शिक्षकों और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र दिया, जो अप्रैल-मई में आने वाले विधानसभा चुनावों से पहले की जाने इस तरह की सबसे बड़ी भर्ती है। यह सभी अपॉइंटमेंट लेटर एक स्पेशल ड्राइव चलाकर दिए गए हैं। आपको बता दें कि असम में जल्दी ही विधानसभा का चुनाव होने वाला है।

गुवाहटी के सुरसजाई स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम में 16,484 शिक्षकों को, जो कई सालों से काम कर रहे थे, सरकारी वेतन और अन्य लाभ मिलने शुरू हो गए, इसके अलावा स्कूलों और कॉलेजों में 13,217 नई भर्तियां भी की गईं।

इस मौके पर मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा, “हमने अपने वादे के अनुसार काम किया है। मैं नए नियुक्त शिक्षकों से आग्रह करता हूं कि वे अपने पेशे में जुनून के साथ शामिल हों ताकि हमारे बच्चे दिमाग से तेज हो सकें और वो सर्वश्रेष्ठ बनने की ओर आगे बढ़ सकें।"

इसके साथ ही राज्य के शिक्षा, वित्त और स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, “यह राज्य के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी भर्ती है। यदि परिस्थितियां अनुमति देती हैं, तो हम चुनाव की तारीखों की घोषणा होने से पहले लगभग 5,000 और शिक्षकों की भर्ती करने की कोशिश करेंगे।”

इस तरह से एक साथ इतनी भारी संख्या में की जाने वाली शिक्षकभर्ती के इस कदम को आने वाले चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि इससे भाजपा को विधानसभा चुनावों में काफी फायदा भी हो सकता है।