असम में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले राज्य मंत्रिमंडल ने शनिवार को चाय बागान मजदूरों की दिहाड़ी बढ़ाकर 318 रुपये करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

संसदीय कार्य मंत्री चंद्र मोहन पटवारी ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि बढ़ाई गई राशि में राशन के लिए 101 रुपये भी शामिल हैं। बता दें, चाय बागान मजदूरों की दिहाड़ी 167 रुपये बढ़ाई गई है।

गौरतलब है कि चाय बागान मजदूरों की पारिश्रमिक समीक्षा राज्य में एक राजनीतिक मुद्दा बन गया है। विपक्षी दल कांग्रेस ने राज्य की भाजपा नीत सरकार पर चाय बागान मजदूरों की पारिश्रमिक बढ़ाने में नाकाम रहने का आरोप लगाया था।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हाल ही में वादा किया था कि राज्य में उनकी पार्टी के सत्ता में आने पर चाय बागान मजदूरों की प्रतिदिन की पारिश्रमिक बढ़ाकर 365 रुपये कर दी जाएगी।

असम में करीब 800 चाय बागानों में 10 लाख से अधिक मजदूर काम करते हैं। पूर्वोत्तर का यह राज्य देश के सालाना चाय उत्पादन में करीब 52 प्रतिशत योगदान देता है।