असम में बाढ़ की स्थिति में थोड़ा सुधार हुआ है, हालांकि राज्य के 33 में से 22 जिलों में 22.34 लाख लोग प्रभावित हैं और एक और व्यक्ति की मौत हो चुकी है। एक आधिकारिक रिपोर्ट में सोमवार को यह जानकारी सामने आई। गोलाघाट जिले के बोकाखाट में एक व्यक्ति की मौत होने के बाद इस साल आई बाढ़ और भूस्खलन में मरने वालों की संख्या 129 हो गई है।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया कि बाढ़ संबंधित घटनाओं में 103 लोगों की मौत हो गई और भूस्खलन के कारण 26 की जान चली गई। एएसडीएमए ने कहा कि रविवार से अब तक आपदा से प्रभावित लोगों की संख्या 2.42 लाख घटी है और एक जिला बाढ़ के प्रभाव से मुक्त हुआ है।

गोलपाड़ा जिला सर्वाधिक प्रभावित हुआ है जहां 4.62 लाख से अधिक लोग आपदा से प्रभावित हैं। बारपेटा में 3.81 लाख और मोरीगांव जिले में तीन लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल और जिला प्रशासन समेत स्थानीय लोगों ने पिछले चौबीस घंटों में 97 असहाय लोगों की जान बचाई है।

एएसडीएमए ने कहा कि वर्तमान में 22 जिले प्रभावित हैं और पूरे असम में 22.34 लाख हेक्टेयर कृषि भूमि जलमग्न हो गई है। जिला प्रशासन 15 जिलों में 432 राहत शिविर चला रहा है जिनमें 45,565 लोगों को आश्रय मिला है।