सेनाओं में दिन पर दिन महिला अधिकारियों को नए मौके दिए जा रहे हैं। इन कई मौकों में से ही एक मौका असम की भारतीय वायुसेना ऑफिसर (आईएएफ) बोरनाइल गोगोई के हिस्‍से आया है। गोगोई, इंडियन एयरफोर्स की असम से आने वाली पहली ऐसी लेडी ऑफिसर हैं जिन्‍हें विंग कमांडर की रैंक पर प्रमोशन दिया गया है। आईएएफ में लेडी ऑफिसर्स को लगातार नए मुकाम छूने का अवसर मिल रहा है।

विंग कमांडर गोगोई, असम के लखीमपुर की रहने वाली हैं। स्‍कूल कॉलेज के दिनों में अपने नाम पर कई रिकॉर्ड दर्जे करवाने के बाद अब विंग कमांडर गोगोई के हिस्‍से यह उपलब्धि भी आ गई है। विंग कमांडर गोगोई को 27 मई 1996 को आईएएफ में कमीशन मिला था। इसके बाद उन्‍हें फ्लाइंग ऑफिसर और फ्लाइंग लेफ्टिनेंट की रैंक पर प्रमोट किया गया है। हाल ही में उन्‍हें विंग कमांडर के पद पर प्रमोशन मिला है। 

सन् 1985 में गोगाई ने मैट्रिक की परीक्षा में 16वां स्‍थान हासिल किया था। इसके बाद गुवाहाटी के कॉटन कॉलेज से उन्‍होंने हायर सेकेंड्री की पढ़ाई पूरी की। असम इंजीनियरिंग कॉलेज से उन्‍होंने इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और टेलीकम्‍यूनिकेशंस में डिग्री ली। उन्‍हें इस बार फर्स्‍ट पोजिशन हासिल हुई। इसके बाइ उन्‍होंने बिड़ला इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी एंड साइंस से इंजीनियरिंग में मास्‍टर्स की डिग्री ली। उनके माता-पिता प्रेमधर गोगोई और अंजली गोगोई, लखीमपुर में रहते थे। 

असम ने देश को कई ऐसी महिलाओं से नवाजा है जिन्‍होंने राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर अपने राज्‍य और देश का परचम लहराया है। अब विंग कमांडर गोगोई का नाम भी उस लिस्‍ट में आ गया है जिसमें एथलीट हिमा दास, बॉक्‍सर जमुना बोरो, एथलीट अंजना साकिया, फिल्‍ममेकर रीमा दास, फोक सिंगर प्रतिमा पांडे, स्‍वतंत्रता सेना पद्मश्री नलिनी देवी और कई और महिलाओं के नाम शामिल हैं।