चुनाव आयोग की तरफ से कुछ ही देर में मतगणना प्रक्रिया शुरू होनी है। इसी बीच भारत के उत्तर पूर्वी राज्य असम में एक बार फिर ईवीएम से जुड़ा मामला सामने आया है। राज्य के हैलाकंडी में शनिवार शाम एक ट्रंक में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पाई गई। मामले की जानकारी मिलते ही चुनाव अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। कहा जा रहा है कि यह ईवीएम रिजर्व्ड थी और इसमें वोट नहीं डाले गए थे।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, असम के हैलाकंडी में शनिवार शाम ट्रंक में एक ईवीएम मिली है। रिपोर्ट के अनुासर, जिला निर्वाचन अधिकारी मेघ निधि दहल अन्य रिटर्निंग अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे और पूछताछ की। खास बात है कि इस दौरान चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी भी मौके पर पहुंच गए थे। बयान के मुताबिक, 'जांच में पता चला है कि अंजाने में मतगणना स्थल तक पहुंची ईवीएम, जो ट्रंक में मिली है, वह रिजर्व्ड है। और इसमें कोई वोट नहीं डाले गए हैं।'

एजेंसी के अनुसार, इस मशीन को प्रत्याशियों के सामने ही खोला गया और वे नतीजों से संतुष्ट दिखे। ट्रंक में मिली इस ईवीएम को तत्काल उपायुक्त के कार्यालय के पास मौजूद ईवीएम वेयरहाउस में पहुंचाया गया। बयान में दहल के हवाले से कहा गया है 'चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी इस बात से संतुष्ट ते कि ईवीएम रिजर्व्ड थी और इसमें कोई वोट नहीं डाले गए थे। मशीन को बाद में ईवीएम वेयरहाउस ले जाया गया और सुरक्षा के बीच रखा गया।'

खास बात है कि बीते मार्च से जारी मतदान प्रक्रिया के बाद आज यानि रविवार को मतगणना होगी। इस बार चार राज्यों- असम, केरल, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और एक केंद्र शासित प्रदेश- पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव हुए थे। इस दौरान सबसे लंबा मतदान 8 चरणों में बंगाल में चला। इसके बाद असम में चुनाव 3 चरणों में पूरा हुआ। असम में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन के बीच है।