असम में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। सभी राजनैतिक दल जनता को लुभाने में लगे हैं और इसी के साथ एक दूसरी पार्टियों की कमियां गिना रहे हैं। इसी कड़ी में भाजपा और  कांग्रेस में जुबानी जंग भी शुरू हो गई है। राज्य में भाजपा नीत सरकार पर अपना हमला तेज करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, जो असम में कांग्रेस के प्रचार अभियान की देखरेख कर रहे हैं, ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल पर तीखा हमला कर रहें है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल पर राज्य में एक सिंडिकेट के संचालन का आरोप लगाया है।


बघेल ने सोनोवाल पर सरकार से कहा कि राज्य सरकार के संरक्षण में असम में पशु तस्करी हो रही है। बीजेपी देश भर में गायों के नाम पर वोट मांग रही है। लेकिन, असम में यह बांग्लादेश के साथ मवेशियों के अवैध व्यापार को प्रायोजित और संचालित कर रहा है। वास्तव में, सोनोवाल सरकार एक व्यवस्थित सिंडिकेट चला रही है। बघेल ने कहा कि 2016 में भाजपा ने असम में सत्ता संभाली थी, इसलिए पड़ोसी देश में मवेशियों की निरंतर आपूर्ति के कारण बांग्लादेश में गोमांस की खपत 211 प्रतिशत बढ़ गई है।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एक के बाद एक सोनोवाल सरकार पर आरोप लगाएं हैं। भूपेश ने कहा कि अवैध मवेशी व्यापार के सोनोवाल के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार कोयला दलाली भी करती है। बघेल ने आगे कहा कि सिंडिकेट सिर्फ गाय के व्यापार तक ही सीमित नहीं है बल्कि अवैध कोयला व्यापार के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। राज्य में हर दिन लगभग 500 ट्रक अवैध कोयला परिवहन हो रहा है। राज्य में बढ़ती बेरोजगारी के मुद्दे को मुख्य पॉइन्ट मानते हुए बघेल ने कहा कि भाजपा ने 2 करोड़ नौकरियां पैदा करने का वादा किया था, लेकिन 2016-2020 से बेरोजगारी 5 लाख से अधिक हो गई है।