असम कांग्रेस ने 31 दिसंबर, 2021 तक देश की वयस्क आबादी के टीकाकरण को पूरा करने के लिए टीकाकरण कार्यक्रम में तेजी लाने का सुझाव दिया है। असम कांग्रेस ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें प्रति दिन 1 करोड़ टीकाकरण का सुझाव दिया गया है। असम कांग्रेस ने अपने ज्ञापन में कहा कि "...मोदी सरकार को प्रतिदिन एक करोड़ टीकाकरण के साथ-साथ सार्वभौमिक मुफ्त टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश दें।"


कांग्रेस ने कहा कि "...हमें 31 दिसंबर 2021 को या उससे पहले 18 साल से ऊपर की अपनी पूरी वयस्क आबादी का टीकाकरण करने की आवश्यकता है। यह हमारे लोगों को बचाने का एकमात्र तरीका है। इसके लिए एक ही उपाय है कि एक दिन में कम से कम एक करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाए, न कि एक दिन में 16 लाख लोगों का मौजूदा औसत ”। असम कांग्रेस ने अपने ज्ञापन में, कोविड-19 टीकों के अंतर मूल्य निर्धारण के लिए केंद्र सरकार की भी आलोचना की।


मुफ्त में दें वैक्सीन सरकार

असम कांग्रेस ने कहा कि "मोदी सरकार द्वारा प्रायोजित एक ही टीके के लिए तीन मूल्य स्लैब लोगों के दुखों से मुनाफाखोरी का एक नुस्खा है"। उन्होंने कहा कि “सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड सिंगल डोज की कीमत मोदी सरकार को 150 रुपये, राज्य सरकारों को 300 रुपये और निजी अस्पतालों को 600 रुपये है।


इसी तरह से भारत बायोटेक की कोवैक्सिन सिंगल डोज की कीमत मोदी सरकार को 150 रुपये, राज्य सरकारों को 600 रुपये और निजी अस्पतालों को 1,200 रुपये है। निजी अस्पताल यहां तक कि एक खुराक के लिए 1500 रुपये तक वसूल रहे हैं। केंद्रीय भाजपा सरकार भारत के लोगों के टीकाकरण के लिए राज्यों और निजी अस्पतालों को मुफ्त में वैक्सीन और आपूर्ति करें।