असम विधानसभा चुनाव के प्रचार प्रसार में हर राजनीतिक दल एक दूसरे पर तंस कर रहे हैं। जनता को लुभाने और सत्ताधारी सरकार की कमियां गिनाने के लिए कांग्रेस ने अभियान शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में असम कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राज्य को प्रभावित करने वाले प्रमुख मुद्दों को संबोधित करने में 'विफल' होने के लिए नारा दिया है। रिपुन बोरा ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर फेल चुके हैं, जो अब राज्य को प्रभावित कर रहे हैं।


असम कांग्रेस ने भाजपा सरकारों से सवाल किया है कि राज्य और केंद्र दोनों सरकार में, 'नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA)', पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर अपनी 'चुप्पी' को लेकर बैठे हुए हैं। बोरा ने भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर असम के लोगों की CAA विरोधी भावनाओं का सम्मान नहीं करने का आरोप लगाया है। बोरा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्पष्ट करना चाहिए कि CAA को वापस लिया जाएगा या नहीं।


असम कांग्रेस ने राज्य में बढ़ती बेरोजगारी को लेकर भाजपा के नेतृत्व वाली राज्य और केंद्र सरकारों को लताड़ लगाई है। रिपुन बोरा ने कहा कि भाजपा ने 2016 के असम विधानसभा चुनाव के दौरान असम में युवाओं के लिए कम से कम 25 लाख नौकरियों का वादा किया था, लेकिन पिछले पांच वर्षों में सिर्फ 80,000 नौकरियां ही प्रदान की हैं। बोरा ने कहा कि असम के युवाओं को राज्य सरकार ने धोखा दिया गया है। दूसरी ओर बोरा ने कहा कि केंद्र जनता पर भारी कर लगाकर, उद्योगपतियों को लाभ पहुंचा रही है।