असम कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने राज्य के युवाओं के प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन उल्फा-आई में शामिल होने पर चिंता व्यक्त की है। संसद में बोलते हुए, असम कांग्रेस सांसद ने कहा कि बेरोजगारी और नौकरियों की कमी युवाओं को विद्रोही संगठनों में शामिल होने के लिए प्रेरित कर रही है।

यह भी पढ़े : Horoscope 25 March : आज इन राशि वालों को मिल सकता है शुभ समाचार , राशि अनुसार करें अपने इष्ट की पूजा


गौरव गोगोई ने सरकार से असम के युवाओं के उल्फा-I में शामिल होने की प्रवृत्ति को रोकने के लिए तत्काल और आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया है।

गोगोई ने आगे केंद्र को इस मामले के समाधान के लिए असम में खुफिया और सुरक्षा विशेषज्ञों की एक टीम भेजने का सुझाव दिया।

यह भी पढ़े : छात्रा को कान पकड़कर उठक-बैठक करवाने वाली शिक्षका की बर्खास्तगी वापस , जानिए पूरा मामला


उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को साझा करने वाले राज्यों में ऐसी स्थितियों पर गौर करना चाहिए। हाल ही में, परेश बरुआ के नेतृत्व वाले ULFA-I में असम से बड़ी संख्या में युवाओं के शामिल होने की खबरें आई हैं।