गुवाहाटी: असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने गुरुवार को राज्य के लोगों से चंदा इकट्ठा करने की संस्कृति को छोड़ने का आग्रह किया।  उन्होंने लोगों से इस दुर्गा पूजा के दौरान हमेशा के लिए इससे छुटकारा पाने का संकल्प लेने का आग्रह किया।

यह भी पढ़े :   राशिफल 30 सितंबर:  कोई भी ग्रह बहुत अच्‍छी स्थिति में  नहीं, इन राशियों के लोगों के लिए आज का समय बहुत खराब 


मुख्यमंत्री डॉ. सरमा ने एक बयान में कहा कि भारतीय आध्यात्मिक जीवन में देवी दुर्गा की पूजा का बहुत महत्व है। देवी दुर्गा की पूजा समाज को प्रेरित करती है और बुरी ताकतों से लड़ने का साहस देती है।

यह भी पढ़े : Shanidev: धनतेरस से शनिदेव बदलेंगे अपनी चाल, सभी 12 राशियों पर पड़ेगा प्रभाव 


उन्होंने कहा कि इस पूजा का भक्ति और श्रद्धा से गहरा संबंध है और यह सामाजिक, नैतिक और आध्यात्मिक बंधन को मजबूत करता है उन्होंने कहा कि पूजा दान के नाम पर धन इकट्ठा करके छोटे या बड़े व्यवसाय मालिकों को परेशान करना समाज के हित में नहीं है।