असम सरकार ने बृहस्पतिवार को फैसला किया कि वह राज्य के विभिन्न हिस्सों में नए सर्किल और संभाग बनाकर लोक निर्माण और लोक स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभागों में करीब 900 पद सृजित करेगी। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की अध्यक्षता में हुई बैठक में मंत्रिमंडल ने लोक निर्माण विभाग (भवन) की गतिविधियों के सुचारू क्रियान्वयन के लिए राज्य भर में आठ सर्किल, 20 नए संभाग और 28 उप-संभाग बनाने को मंजूरी दी।

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने एक बयान में कहा, "मंत्रिमंडल ने विभाग के लिए 804 तकनीकी पदों के सृजन को भी मंजूरी दी है।" इसी प्रकार मंत्रि-परिषद ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के तीन नये संभाग माजुली, दक्षिणी सलमारा-मनकच्छार एवं बाजली जिलों में स्थापित करने का भी निर्णय लिया। बयान में कहा गया है कि इससे नए संभागों के लिए 93 पदों का सृजन होगा।

इसके अलावा मंत्रि-परिषद ने खेल पेंशन की राशि को मौजूदा 8,000 रुपये से बढ़ाकर 10,000 रुपये करने का फैसला किया, जबकि खिलाड़ियों को दी जाने वाली एकमुश्त वित्तीय सहायता 50,000 रुपये तय की। सीएमओ ने कहा, "मंत्रिमंडल ने आगे फैसला किया कि राष्ट्रीय चैंपियनशिप, एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों और ओलंपिक में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को 10,000 रुपये प्रति माह की दर से आजीवन पेंशन दी जाएगी।"

सरकार ने फैसला किया कि वह हर साल तीन सितंबर को पूर्व एथलीट और कोच भोगेश्वर बरुआ के जन्मदिन को 'खेल दिवस' के रूप में मनाएगी। बरुआ अंतरराष्ट्रीय खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले असमिया हैं। उन्होंने 1966 के एशियाई खेलों में 800 मीटर की स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था।

राज्य मंत्रिमंडल ने 'विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग' का नाम बदलकर 'विज्ञान, प्रौद्योगिकी और जलवायु परिवर्तन विभाग' करने का भी प्रस्ताव लिया। इस बीच, मंत्रिमंडल ने बैठक में बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र (बीटीआर) में आई बाढ़ की समीक्षा की और स्थिति की निगरानी के लिए मंत्रियों जोगेन मोहन और यूजी ब्रह्मा को नियुक्त करने का निर्णय लिया।