असम के एक स्कूल में बम ब्लास्ट से असम-मिजोरम सीमा पर एकबार फिर तनाव पैदा हो गया है। असम-मिजोरम सीमा पर शांति बहाल होने के कुछ दिनों बाद यह घटना सामने आई है। अज्ञात बदमाशों ने शुक्रवार रात को मिजोरम की सीमा के पास असम में एक स्कूल के अंदर विस्फोट कर दिया। यह घटना असम में कुछ नागरिक संगठनों द्वारा लगाए गए एक सप्ताह से अधिक समय से चली आ रही आर्थिक नाकेबंदी के बाद सीमा पर शांति बहाल होने के कुछ दिनों बाद हुई है।

हैलाकांडी जिले के गुटगुटी इलाके में शुक्रवार रात पाकुआ पुंजी एलपी स्कूल में विस्फोट हुआ। जिससे इमारत को कुछ नुकसान पहुंचा है। मामला तब सामने आया जब स्थानीय लोगों ने स्कूल में विस्फोट की आवाज सुनी। पुलिस के मुताबिक, यह सीमा से करीब 500 मीटर की दूरी पर स्थित है। फरवरी में इसी जिले के मुलीवाला लोअर प्राइमरी स्कूल में बदमाशों ने दो धमाके किए थे। इससे पहले, पड़ोसी कछार जिले के दो स्कूलों में भी बमबारी की गई थी।
पिछले साल अक्टूबर से सीमा पर कानून और व्यवस्था की घटनाओं की एक कड़ी मिजोरम पुलिस की गोलीबारी में खत्म हुई, जिसमें 26 जुलाई को असम पुलिस के छह जवान मारे गए। जवाबी कार्रवाई में, असम में कुछ नागरिक संगठनों ने एक नाकाबंदी लगाई, जिसके लिए मिजोरम में वाहनों की आवाजाही की अनुमति नहीं थी।

इस बीच, कुछ रिपोर्टों के अनुसार, हैलकांडी जिले के कतलीचेरा के बिलाईपुर इलाके में तनाव पैदा हो गया था, जब मिजोरम के कुछ लोग कथित रूप से सड़क बनाने के लिए अत्याधुनिक हथियार लेकर पहुंचे थे। वे एक अर्थ-मूवर भी साथ लाए थे। हथियारबंद लोगों को देखकर स्थानीय निवासी मौके से फरार हो गए। कतलीचेरा के विधायक सुजम उद्दीन लस्कर ने राज्य के पुलिस महानिदेशक को इस घटनाक्रम से अवगत कराया है और उनसे हस्तक्षेप की मांग की है।

लगभग 165 किलोमीटर लंबी सीमा को लेकर असम और मिजोरम के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। दोनों राज्यों ने 26 जुलाई के रक्त-स्नान के बाद एक सौहार्दपूर्ण समाधान खोजने की कोशिश करने के लिए फिर से बातचीत शुरू की है।