असम लोक सेवा आयोग (APSC) ने लैंगिक समानता की दिशा में एक प्रतिशील कदम उठाया है। आयोग ने राज्य नागरिक और संबद्ध सेवाओं के परीक्षा आवेदन पत्र में लिंग श्रेणी में ट्रांसजेंडर का विकल्प शुरू करने का फैसला किया है। 

इस फैसले के बाद से 42 आवेदन प्राप्त किए गए हैं। APSC के अध्यक्ष पल्लव भट्टाचार्य ने कहा कि आयोग ने 15 सितंबर को एक पूर्व नोटिस में ट्रांसजेंडर को शामिल करने के लिए पहली बार संयुक्त प्रतिस्पर्धा (प्रारंभिक) परीक्षाओं के लिए लिंग श्रेणी में शामिल होने के लिए एक नोटिस जारी किया गया था।

APSC के एक अधिकारी ने बताया कि “ट्रांसजेंडर” विकल्प को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने अपनी भर्ती प्रक्रिया में पहले ही पेश कर दिया है। असम राज्य सेवा आयोग इस विकल्प को शामिल करने वाला पहला राज्य बन गया है।

भट्टाचार्य ने कहा, हमें असम सिविल सेवा जूनियर ग्रेड और अन्य संबद्ध सेवाओं के पदों पर भर्ती के लिए इस श्रेणी में 42 आवेदन मिले हैं। राज्य में समुदाय की सामाजिक और आर्थिक स्थित को देखते हुए असम ट्रांस जेंडर वेलफेयर बोर्ड की उपाध्यक्ष स्वाति बिधान बरूआ ने कहा कि 42 ट्रांसजेंडर द्वारा आवेदन करना एक अच्छी खबर है।

फॉर्म जमा करने के अंतिम दिन यानी 25 अक्टूबर तक कुल मिलाकर 83,251 आवेदकों ने फॉर्म जमा किए हैं। APSC ने इस साल फॉर् आनलाइन जमा करने की भी शुरुआत की है।